How To Earn Money From Amazon flipkart Snapdeal And E-Commerce site.

As we know we often use amazon, flipkart and snapdeal for shopping but many of people earn money from these site and how that's we tell you in our artical.so please read with attention and makes a opportunity for your own business.

How To Earn Money From Amazon flipkart Snapdeal And E-Commerce site.

Hello दोस्तों स्वागत है आपका हमारी website earnidea.com पर ।कई बार लोग सोचते है online कैसे कमाये marketing कैसे करे प्रोडक्ट कैसे decide करे product कैसे बेचें। इस artical मे हम आपको पूरी जानकारी देंगे।

Step by step हम आपको बतायेंगे चाहे आप एक student हो ,fresher या फिर पुराने buisness man. आप डिजिटल मार्केटिंग expert हो या फिर आपको डिजिटल मार्केटिंग की कोई भी knowledge नही हो।सभी के लिये यह artical बहुत ही फायदेमंद रहने वाला है।

India की जो internet economy है वह 2020 तक 250 बिलियन डॉलर की होने वाली है।लगभग 33 करोड़ लोग ऑनलाइन बेच रहे होंगे और आप भी इसका फायदा ले सकते हो कैसे वो हम आपको बताने वाले है।

हम सभी जानते है कि amazon, snapdeal, flipkart आदि का उपयोग कितने लोग online shopping के लिए करते है। यंहा हम आपको amazon के बारे में detail से बताएंगे कि यंहा से कैसे earning की जा सकती है। इसके लिए procedure क्या है।

और  अगर ये procedure को आप अच्छे से समझ लेते है तो उसके बाद आप flipkart, snapdeal,paytm किसी भी e commerce site से same procedure का इस्तेमाल कर earning कर सकते है।

Contents

  • Your product
  • Product registration
  • Product processing
  • Product marketing
  • Product sharing
  • Competitors analysis
  • Product rating
  • Problems

Your product

Online अगर बेचना है तो सबसे ज्यादा जरूरी होता है product selection। अगर तो आपकी अपनी manufacturing कम्पनी है,आप अपना product खुद बनाते हो तब तो प्रोडक्ट decide है।लेकिन अगर आपके पास अपना product नही है तो कैसे decide करे कि कौन सा प्रोडक्ट बेचना है।

अगर हम प्रोडक्ट सोच रहे होते है तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है जिसमे सबसे पहले आता है need identification।

    • Need identification: जो प्रोडक्ट आप सोच रहे है जो प्रोडक्ट आप बेचना चाहते हो क्या मार्किट में उसकी जरूरत है। because अगर प्रोडक्ट की  need ही नही होगी तो उसे बेचोगे किसको उसे खरीदेगा कौन?

  • Profit margin:दूसरी  बात हमे ध्यान में रखनी होती है कि उस प्रॉफिट margin कैसे है ।profit अगर होगा तो आप grow करोगे।
  • Intrest : तीसरी बात हमे ध्यान में रखनी होती है कि उस product मे आप intrested भी हो या नही। future में आप उसको कितना expand कर सकते हो।

Product selection के लिए हम डायरेक्ट गूगल पर जाकर search कर सकते है amazon best sellers।फिर वँहा से जो प्रोडक्ट सबसे ज्यादा pupular है वँहा से हम select कर सकते है।जिस भी category में आप product बेचना चाहते है वो हम वँहा से select कर सकते है।

Product select करते समय याद रहे कि उसी product को select करे जिसे खरीदना और बनाना आपके लिए आसान हो ।उसमे उतनी ही investment लगे जितनी आप afford कर सकते हो।

आप wholsaler से बात कर सकते है आप मार्किट में देख सकते हो कि कौन सा प्रोडक्ट कितनी कम cost पर avilable है । आप उनके साथ मिलकर काम शुरू कर सकते हो कि शुरुआत में मुझे शुरुआत में कम cost पर ,कम investment थोड़ा stock दे दो मैं धीरे-धीरे इसे बढ़ा दूंगा।

तो इस procedure से आप easily product को select कर अपना buisness start कर सकते हो।

Product registration

हमने देखा किस तरह हमे अपने प्रोडक्ट को select करना है । product selection के बाद हमारे पास आता है product registration का step। यही वो process जंहा से हम rgister होकर amazon पर अपना प्रोडक्ट sale कर सकते हैं।

हमे sellercentral amazon.in पर जाकर register button पर click करके start selling का option चुनना होता है। फिर एक page सामने आता है जिसमे कुछ details हमे अपनी भरनी होती है और इस तरह बन जाता है हमारा account।

यंहा एक बात महत्वपूर्ण है कि जब हमसे वो हमारे buisness का नाम यंहा मांगता है तो ख्याल रहे नाम ऐसा होना चाहिए जिससे हमारे पूरे प्रोडक्ट का पता चले ।

Product अगर taxable नही है तो काम चलेगा लेकिन अगर गुड्स taxable है तो GST no. होंना जरूरी है होनाआवश्यक हो जाता है।

Product processing

अब अगर हमें products बेचने होते है तो उन्हें select कर amazon पर डालना पड़ता है और इसी process को हम product लिस्टिंग भी बोलते है। amazon के seller पोर्टल पर हम अपने product की लिस्टिंग करते है।

यंही से पता चलता है कि कीतने product की हमे आवश्यकता है कितनी investment पर हमें मिल रहे है और पूरी inventory stock यंहा से manage किया जा सकता है।

Product listing के हमारे पास दो तरीक़े है। एक तो या हमे अपने product को पोर्टल पर ही लिस्ट करके एक एक करके डाल सकते हो या फिर exel sheet मे डालकर उसे upload कर सकते है। 

जैसे ही कोई order place करेगा तो वो order आपके selling portal या app पर आपको दिख जाता है। जिसके हिसाब से product हमे भेजना होता है। अब product भेजने के भी हमारे पास तीन तरीके आते है।

  • Easy ship : इसमे आपको सिर्फ प्रोडक्ट को order के base पर पैक करना होता है उसके बाद amazon का employee आएगा और खुद उस order को ले जाकर उसे deliver करेगा। कब deliver करेगा कैसे करेगा इसकी आपको कोई टेंशन नही होगी।
  • Self shipping: अब मान लो आप चाहते है कि आप product खुद डिलीवर करोगे आपने couriar वाले से tie up किया है जो आपको सस्ता पड़ रहा है।इसमे एक duty हमारी ये रहती है कि seller centre पर जाकर हमे update करना होता है कि आर्डर कब तक deliver होगा।
  • Fulfilment by amazon:इसमे क्या होगा कि जितना भी आप प्रोडक्ट बना रहे हो वो सारा amazon अपने पास लेकर जाएगा और खुद आर्डर पर उसे डिलीवर करता है।इसका फायदा है हमे किसी store warehouse की कोई भी जरूरत नही पड़ती।

Product marketing

हमने product select किया ,listing भी कर ली और shiping भी सोच ली कि कैसे लोगो तक पहुंचाना है।लेकिन यंहा से बात यह आती है कि प्रोडक्ट बिकेगा कब।इसके लिए product marketing जरूरी है।

जितना आप products को लोगों के सामने लेकर आओगे उतना ही फायदा यंहा से हमे मिल सकता है।इसके लिए जब आप product list करते है तो वँहा एक option होती है search terms।यंहा हमे keywords डालने होते है जो लोग search करते है। आपके keywords ओर लोगों के search word जितने ज्यादा मिलते है उतना ही आपका product लोगो के सामने आता है।

जिस keyword पर search ज्यादा हो लेकिन products कम आ रहे है वँहा पर हम अपना प्रोडक्ट ज्यादा से ज्यादा बेच सकते हैं।keywords के लिए हम google keyword planner औऱ scope  का इस्तेमाल कर सकते है।

अगर आप चाहते हो कि आपका product सबसे उपर आए तो आप amazon की मदद से sponsr adds का use करके अपने product की लोकप्रियता बढ़ा सकते हो।

Product sharing

Product को ज्यादा से ज्यादा बेचना है तो इसके लिए जरूरी है कि लोगो को पहले आपके product का पता तो चले।इसके लिए आप अपने प्रोडक्ट्स को अलग अलग जगह शेयर कर सकते है।

अपने blogs लिख सकते हो,social media accounts पर अपने प्रोडक्ट्स के बारे में डाल सकते हो।जितने लिंक ज्यादा आपके फैलेंगे उतना लोग आपके products को preffer करेंगे।

Compititor analysis

एक analysis जो अपने buisness को स्ट्रांग करने के लिए हर किसी को करनी चाहिए।किसी भी decision को लेना है तो अपने compititor को ध्यान में रख के लेना है कि वो क्या कर रहे है किस तरह का product वो शेयर कर रहे है।

Product rating

Product rating amazon पर बहुत बड़ी भूमिका निभाती है।जितनी ज्यादा हमे rating मिलती है उतना ही हमारा प्रोडक्ट बिकेगा और हमारा buisness grow करेगा।

Rating पाने के लिए जरूरी होता है कि आपका product best quality का हो कम cost पर हो और customer satisfaction के आधार पर हो।

Shipping performance fast होनी चाहिए ।जितना जल्दी लोगों तक उनका प्रोडक्ट पहुंचता है उतनी ही आपके buisness की reputation बढ़ती है।

Problems

अगर आप कोई काम कर रहे हो तो जरूरी नही हर बार काम continusely आपके हिसाब से चले।उसमे कुछ problem आ रही हो हो सकता है photograbhy, या packaging में कोई प्रॉब्लम आ रही हो या किसी कारण से आपका प्रोडक्ट return आ जाये।

तो आपको बता दे कि फोटोग्राफी ओर packaging के लिए amazon पर आपको कुछ special partner मिलते है जन्हें आप approch कर सकते हो ।और प्रोडक्ट अगर quality, गलत रंग,गलत आकार याआपकी गलती से वापिस आता है तो उसकी panalty तो आपको भरनी होगी।

लेकिन अगर आपने product सही भेजा और coustomer को पसंद नही आया और वो इसे वापिस करता है तो उसमें आपको कोई panalty नही लगती।उसका सारा खर्च amazon खुद  उठाती है 

तो दोस्तों ये कुछ procedure जो हमने आप से शेयर किए amazon के साथ साथ flipkart, snapdeal के लिए भी हम इनका इस्तेमाल same उसी तरह कर सकते है और अच्छा buisness हम बना सकते है।

आशा है आपको हमारा आर्टिकल पसन्द आया होगा और भी बहुत सी  जानकारी के लिए आप हमारी official website www.earnidea.com से जुड़ कर ले सकते है।