Start fast food business in India

Fast food business is a big opportunity in India, you can start a fast food business and make a good income. how to start fast food business in India

Start fast food business in India

Hello everyone स्वागत है आप सभी का एक बार फिर से हमारी वेबसाइट earnidea पर इस महत्वपूर्ण लेख में हम आपको how to start fast food business in India के बारे में पूरी जानकारी देंगे ताकि आपको अपना बिजनेस स्टार्ट करने में मदद मिल सके। और बिजनेस स्टार्ट करने में कोई प्रॉब्लम नहीं आए क्योंकि दोस्तो कोई भी बिजनेस स्टार्ट करने से पहले उसकी पूरी जानकारी होना आवश्यक है नहीं तो बिजनेस में असफलता ज्यादा मिलती।

हमारे देश में बिजनेस में फेल होने का सबसे बड़ा कारण यही है कि बिना कुछ information के बिजनेस की शुरुवात कर देते हैं जिसके चलते कुछ दिनों बाद हार मान लेते हैं।
हमारे देश में युवा वर्ग बिजनेस तो करना चाहते हैं लेकिन नॉलेज नहीं होने के कारण हिचकिचाते हैं, इस कारण हम आपको इस वेबसाइट के माध्यम से new business ideas and online business ideas प्रदान करते हैं और वह भी full information me साथ
अगर आप भी फास्ट फूड बिजनेस की शुरुवात करना चाहते हैं तो आप अंत तक जरूर बने रहे ताकि आपको पूरी जानकारी मिल सके।

सबसे पहले हम जानते हैं कि fast food business का भविष्य में और वर्तमान में कितना स्कोप है और इसका मुख्य कारण है तो चलिए शुरू करते हैं।

Table of content

  • Scope of food business or industry
  • Food service or business के लिए लाइसेंस
  • Types of food business or industry
  • How to start fast food business in India
  • Business planning
  •  जगह का चयन केसे करें
  • फास्ट फूड बिजनेस में आने वाली लागत
  •  प्रोफिट
  • अपनी फास्ट फूड रेस्टोरेंट को ऑनलाइन वेबसाइट से केसे जोड़े
  • कितने स्टाफ ओर फूड कारीगर रखें
  • Marketing केसे करें

Scope of fast food business in India

सबसे पहले तो हम आपको एक उदाहरण देने चाहेंगे कि किस देश में सबसे ज्यादा लोग बाहर खाना खाते हैं

  • India- 2 times महीने में
  • इंडोनेशिया- 15 टाइम्स महीने में
  • इंग्लैंड- 20 टाइम्स महीने में
  • अमेरिका- 25 टाइम्स महीने में
  • सिंगापुर- 40 टाइम्स महीने में
  • थाईलैंड- 45 टाइम्स महीने में

तो आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि भारत में फूड रेस्टोरेंट की कितनी डिमांड बड़ने वाली है।

ओर आज कल सरकार ने ई विसा का प्रावधान कर दिया है इससे आने वाले समय में टूरिज्म ज्यादा संख्या में बड़ने वाले हैं

एक रिपोर्ट के मुताबिक 10.5 मिलियन  है जो आने वाले दस साल में यह 30 millio होने वाले है, यह 300% ग्रोथ के साथ बड़ रहा है। 

मुख्य कारण है

  • Busy Life
  • Double source income ( यानी कि पति पत्नी दोनों कमा रहे हैं )
  • पर्सनल डिस्पोजेबल इनकम
  • जिसके कारण लोग बाहर जाकर खाना खा रहे हैंस्टूडेंट्स का घर से बाहर एजुकेशन लेना

आदि बहुत सारे कारण है जिसके चलते लोग फास्ट फूड की तरफ रुख कर रहे हैं

फूड इंडस्ट्री में आप इनमें से कोई एक सर्विस स्टार्ट कर सकते हैं

  • Quick service restaurant
  • Take away restaurant
  • Cattering Business
  • Bakery unit's
  • Corporate canteen
  • Tiffin service
  • Chocolate making
  • Salad/ food counter
  • Food pre
  • Food blogger
  • Food consultant
  • Franchise of hotel management
  • Fast food service

Etc.

एक रिपोर्ट के अनुसार फूड इंडस्ट्री इस समय 10 लाख करोड़ की है, अगले पांच साल के अंदर यह 15 लाख करोड़ रुपए की होने वाली है यही एक कारण है कि फास्ट फूड या फूड रेस्टोरेंट बिजनेस का भविष्य बहुत अच्छा है।

फूड सर्विस या बिजनेस के लिए आवश्यक लाइसेंस

  • एफएसएसएआई पत आपको पंजीकरण करना है
  • यह एक पूर्ण रूप से भारतीय खाद सुरक्षा ओर मानक प्राधिकरण है जो 2006 में स्थापित किया गया था
  • एफएसएसएआई भारत के हर प्रकार के फूड सर्विस या बिजनेस के लिए एक खाद लाइसेंस प्रदान करने के लिए प्राधिकरण है
  • खाद बिजनेस अर्थात फास्ट फूड बिजनेस करने वाले को एफएसएसएआई के दिशा निर्देशों का पालन करना होता है
  • यह लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं, यहां पर आप आवश्यक जानकारी भरे ओर सबमिट कर सकते हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए आप legaldocs.co. पर क्लिक कीजिए

यह लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको 40-50 दिन तक का समय लग सकता है

एफएसएसएआई लाइसेंस में आपको अलग अलग रूप से खर्चे आएंगे

  1.  बेसिक एफएसएसएआई लाइसेंस की फीस- 100/ वर्ष जिसमें आपके बिजनेस का एक साल का टर्नओवर 12 लाख से कम हो
  2. स्टेट एफएसएसएआई लाइसेंस की फीस- 2000/ वर्ष जिसमें आपके बिजनेस का एक वर्ष का टर्नओवर 12 लाख से ज्यादा ओर 20 करोड़ से नीचे
  3.  केंद्रीय एफएसएसएआई लाइसेंस की फीस- 7500/ वर्ष जिसमें आपके बिजनेस का एक वर्ष का टर्नओवर 20 करोड़ से ज्यादा होने की स्थिति में

यह लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको सबसे पहले नगर पालिका से noc के साथ साथ, पासपोर्ट फोटो, addres, खाद कैटेगरी, उपकरणों की सूची, निगमन प्रमाण पत्र, जक परीक्षण रिपोर्ट आदि को एफएसएसएआई की ऑफिशियल वेबसाइट पर अपलोड करना है

लाइसेंस लेने के क्या फायदे है

दोस्तो खाद लाइसेंस के बहुत सारे फायदे बहुत जो हम आपको नीचे बताएंगे

खाद फूड रेस्टोरेंट या बिजनेस में कई legal एडवांटेज प्राप्त कर सकते हैं

उपभोक्ता जागरूकता बनाता है

विज्ञान आधारित सिद्धांतो नीचे सेट

अनुसंधान ओर विकास क्षेत्र सुरक्षा बनाए रखने के लिए जिम्मेदार

वह कारोबार को बड़ा कर सकते हैं

बिजनेस में ग्रोथ होने लगे ताब किसी प्रकार की कानूनी या गेरकानुनी समस्या नहीं हो

What is fast food business

Fast food ऐसे फूड को कहा जाता है जिसे ग्राहक के लिए जल्दी से ओर आसानी से तयार ( पकाया ) जाता है, उसे फास्ट फूड कहते हैं। जैसे- फिजा, बर्गर, चाउमिन, इडली सांभर डोसा, एवं चाइनीज़ डिश, अमेरिकन फूड, साउथ इंडियन फूड आदि।

Best fast food frenchise

अगर आप किसी फास्ट फूड की फ्रेंचाइजी लेना चाहते हैं तो आज के समय में यह पॉपुलर फास्ट फूड कंपनी है जिसकी आप फ्रेंचाइज ले सकते हैं।

McDonald's, Domino's Pizza, Dunkin donuts, Burger King, pizza hat, and KFC

How to start fast food business in India

का अब हम आपको बताएंगे कि भारत में फास्ट फूड बिजनेस केसे शुरू किया जाय

बिजनेस प्लानिंग करें 

दोस्तो किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने से पहले उसकी लिखित प्लांनिंग करना बहुत जरूरी है ठीक उसी प्रकार फास्ट फूड बिजनेस की भी आपको प्लांनिंग करनी है।

बिजनेस प्लानिंग में आप निम्न बातों को जोड़ सकते हैं

  • किसी अनुभवी आदमी या बिजनेस ट्रैनर से सलाह लीजिए 
  • उसके बाद आप को मार्केट सर्व करना है जहां आप फास्ट फूड बिजनेस को शुरू करना है
  • बिजनेस में कितना इन्वेस्टमेंट होगा
  • प्रोफिट कितना होगा और टारगेट कस्टमर कोन होंगे
  • इमरजेंसी फंड कितना रखना है, पैसे कहां से आएंगे, दुकान का किराया कितना होगा, स्टाफ का किराया कितना होगा, बिजनेस की मार्केटिंग स्ट्रेटजी क्या रहेगी।
  • कानूनी कार्रवाई क्या रहेगी, किस तरह का लाइसेंस लेना है, फूड विभाग अनुमति लेनी है,
  • कच्चा माल कहा से लाना है, बिजनेस करने का समय क्या रहेगा यानी कि रेस्टोरेंट का ओपन ओर स्टॉप करने का समय
  • ऑनलाइन सर्विस केसे शुरू करनी है, अपने कॉम्पिटीटर से यूनीक क्वालिटी देनी है, इन सभी बातों को आपको

बिजनेस प्लानिंग करते समय ध्यान रखना होगा ताकि आपको आगे कोई समस्या ना आय ओर अगर किसी समस्या का सामना भी करना पड़े तो उससे निपटने के लिए तैयार रहे। ओर यह तभी संभव है जब आप अपने फास्ट फूड बिजनेस की पूरी प्लांनिंग लिखित रूप में करे।

फास्ट फूड बिजनेस के लिए सही स्थान का चयन केसे करें

बिजनेस के लिए सही स्थान का चयन भी बहुत महत्वपूर्ण होता है, वैसे ही आपको फास्ट फूड बिजनेस के लिए भी सही स्थान का चयन करना है ताकि आपका बिजनेस सफलता पूर्वक चलता रहे। यह एक ऐसा बिजनेस है जो लोकेशन के अनुसार ज्यादा प्रोफिट देता है।

पब्लिक प्लेस- इस बिजनेस के लिए आपको पब्लिक प्लेस का चयन करना चाहिए जैसे- रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, बुस स्टैंड, धार्मिक स्थल, मेला, कोई बड़ा इंस्टीट्यूट, कोचिंग क्लासेस, स्टूडेंट्स हॉस्टल, स्कूल के पास, कॉलेज के पास, गार्डन, शिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, main road, main Street or circle, पर्यटन स्थल, आदि पर आपके बिजनेस का लोकेशन रहेगा तो अच्छा रहेगा क्यो की यहां पर लोगो ओर टूरिज्म का आना जाना लगा रहता है।

अगर आप अपने फास्ट फूड बिजनेस को ऑनलाइन नहीं कर के ऑफलाइन ही करना चाहते हैं तो फिर तो आपको पब्लिक प्लेस का ही चयन करना चाहिए

 How much investment of fast food business

आपके बिजनेस में कितनी लागत आएगी यह पूरी तरह आपके बिजनेस के साइज ओर लोकेशन पर निर्भर करता है

में आपको मेरे दोस्त की फास्ट फूड शॉप का उदहारण देना चाहता हूं

जिसका लोकेशन लैंड मार्क सिटी kota में है वहां पर एलेन कोचिंग क्लासेस स्टूडेंट्स रहते हैं मानो पूरी तरह कोचिंग एरिया है।

  • वहा पर एक महीने के दुकान का किराया 30000 रुपए है,ओर  1 लाख से 1.5 लाख तक शॉप मालिक एडवांस में जमा करवा रखें।
  • उसके बाद एक फास्ट फूड कारीगर है जिसकी एक महीने की सैलरी 15000 हजार रूपए है, ओर एक उसके साथ हेल्पर है जिसकी एक महीने की सैलरी 7000 रुपए है।
  • इसके अलावा दो सर्विसेस बॉय रख रखा है जिसको एक महीने के पांच हजार रुपए यानी कि दोनों का मिलाकर एक महीने के 10000 रुपए होते हैं।
  • एक लाख रुपए के फर्नीचर ओर फास्ट फूड के लिए आवश्यक उपकरण है जैसे- तवा, स्टोव, फ्रेशर कुकर, गेस, फ्रेजर, फिजा रखने की मशीन इत्यादि।
  • इसके अलावा मार्केटिंग के लिए विजिटिंग कार्ड बनवा रखे हैं

अब आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि आपको एक अच्छी ओर सही लोकेशन पर फास्ट फूड की शॉप ओपन करते हैं तो कितना खर्चा आएगा आपको अनुमानित 3 से 5 लाख रुपए तक की लागत आएगी जिसमें आप मार्केटिंग भी अच्छी तरह से कर सकते हैं।

लेकिन दोस्तो ऐसा नहीं कि आप कम पैसों में फास्ट फूड बिजनेस स्टार्ट नहीं कर सकते आप कम से कम 50 हजार रुपए से भी अपना बिजनेस स्टार्ट कर सकते हैं। ओर आप ओर अच्छी जगह ओर बड़ा बिजनेस ओपन करना चाहते हैं तो आपको ओर ज्यादा इन्वेस्टमेंट की जरूरत पड़ेगी अब आप अपने बजट के अनुसार तय कीजिए कि आपको किस साइज का बिजनेस करना है।

Profit by fast food business in India

Profit कि बात करे तो यह भी आपके बिजनेस के साइज पर निर्भर करता है, लेकिन हम आपको एक बात जरूर कहना चाहूंगा की फास्ट फूड बिजनेस में मार्जिन बहुत अच्छा मिलता है, यानी कि आप को 300% तक मार्जिन प्राप्त होता है।

लेकिन दोस्तो यह मार्जिन आपकी लोकेशन पर डिपेंड करता है जैसे कि मैने आपको मेरे दोस्त की फास्ट फूड शॉप के बारे में उदाहरण दिया है उसके 200-300% तक का मार्जिन मिलता है।

मेरे दोस्त के एक महीने की कमाई एक लाख से 2 लाख तक होती है जिसमें से अगर आप सभी स्टाफ ओर दुकान का किराया, ओर कच्चा माल के पैसे भी निकाल देते हैं तो उसको एक महीने के 80 हजार से एक लाख रुपए तक का प्रोफिट मिलता है और यह हर महीने मिलता है।

आपकी लोकेशन के अनुसार आपके पास कस्टमर आएंगे और उसी के आधार पर आपको प्रोफिट मिलेगा।

कितना स्टाफ रखें

फास्ट फूड बिजनेस के लिए आप एक अच्छा सा एक्सपीरियंस वाला फास्ट फूड बनाने वाला कारीगर रखें लेकिन आपको एक बात जरूर ध्यान रखना होगा कि कारीगर यानी कुक अच्छा ओर फुर्तीला होना चाहिए क्यो की सारा बिजनेस से चलता है।

एक कारीगर का हेल्पर होना चाहिए

दो सर्विसे बॉय होना चाहिए एक साफ सफाई वाला ओर एक फूड डिलीवरी करने वाला

शुरू शुरू में आप इतने ही स्टाफ रख सकते हैं जैसे जैसे आपका बिजनेस बड़ता जाय वैसे वैसे आप स्टाफ की संख्या बड़ा सकते हैं

होम डिलीवरी करे या नहीं

दोस्तो आपको अपने बिजनेस को बड़ा करने के लिए आपको होम डिलीवरी की सर्विस जरूर करना चाहिए क्यो की आज के समय में लोग इतना busy है कि या आलसी हैं कि सभी काम घर बैठे बैठे ही करना चाहते हैं।

होम डिलीवरी सिस्टम शुरू करने के लिए आप विजिटिंग कार्ड बनवा कर उसमे होम डिलीवरी फ्री रख सकते हैं क्यो की आपको शुरू शुरू में बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए फ्री होम डिलीवरी करनी होगी।

अपना विजिटिंग कार्ड लोगो के बीच बाट सकते हैं। या अपना अच्छा सा पंपलेट या पोस्टर लगा सकते हैं

इसके अलावा आप ऑनलाइन सर्विसे देने वाली बड़ी बड़ी वेबसाइट पर अपने रेस्टोरेंट का पंजीकरण कर सकते हैं।

 अपनी फास्ट फूड रेस्टोरेंट का ऑनलाइन फूड सर्विस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन केसे करें

दोस्तो आज का समय टेक्नॉलाजी का समय

 है इस डिजिटल दुनिया में हर काम ऑनलाइन होने लग गए हैं, ठीक उसी प्रकार कुछ पापुलर फूड डिलीवरी करने वाली website है जैसे- zomato, swigy आदि जो ऑनलाइन फूड सप्लाई करती हैं। ओर ऐसे में आपको भी अपनी फास्ट फूड शॉप का रजिस्ट्रेशन कर देना चाहिए।

आइए जानते हैं कि केसे zomato पर अपनी रेस्टोरेंट का पंजीकरण करे

इससे पहले आपको कानूनी कार्यवाही सभी प्रकार की पूरी कर लेना चाहिए जैसे- लाइसेंस, जीएसटी पंजीकरण, फूड डिपार्टमेंट से रजिस्ट्रेशन, आदि क्यो की बिना कानूनी कार्यवाही के आप zomato पर पंजीकरण नहीं कर सकते हैं।

Zomato पर रजिस्टर करना सिम्पल हैं

  • सबसे पहले आपको zomato की रेस्टोरेंट सूची में अपनी रेस्टोरेंट का नाम जोड़ना है
  • Zomato की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा कर आपको पूरी डिटेल्स के साथ फार्म को भरना है और सबमिट कर देना है
  • इसके बाद आपने जिस भी वेबसाइट पर आपने अपने रेस्टोरेंट का रजिस्ट्रेशन किया है उसका स्टाफ आपके पास जरूरी डॉक्यूमेंट लेने आएगा। जैसे- pen card, आधार कार्ड, एफएसएसएआई की कॉपी, शॉप की फोटो और लोकेशन आदि इसके बाद आपकी वेरिफिकेशन पूरी होने के बाद आपकी रेस्टोरेंट को जोड़ दिया जाएगा।

इस तरह से आप भी अपनी रेस्टोरेंट से ऑनलाइन फूड सर्विस शुरू कर देंगे।

Fast food business की मार्केटिंग कैसे करें?

किसी भी बिजनेस में सफलता हासिल करने के लिए उस बिजनेस की मार्केटिंग होना जरूरी है खासतौर से न्यू स्टार्ट वाले को अच्छे तरह से मार्केटिंग करना चाहिए क्यो की लोगो को पता चलेगा तब ही तो आपकी शॉप पर आएंगे बिना मार्केटिंग के बड़ी कामयाबी नहीं मिलती है।

मार्केटिंग करने से पहले में आपको कुछ बाते कहना चाहूंगा जिसको आपको अपने बिजनेस में apply करना ही करना है

  • कस्टमर के साथ अच्छा व्यवहार बनाए
  • अपने कॉम्पिटीटर से ज्यादा अच्छी क्वालिटी दीजिए
  • कस्टमर के समय की कदर करे अर्थात समय पर फूड उपलब्ध करवाए 
  • ग्राहक से फीड बैक लेते रहिए और फीड बैक के आधार पर अपनी गलतियों की सुधार करते रहे
  • कस्टमर की प्रॉब्लम सॉल्व करे
  • शुरू शुरू में अच्छी क्वालिटी के साथ कम मार्जिन में सर्विस दीजिए
  • कभी भी क्वालिटी के साथ कॉम्प्रोमाइज नहीं करें क्यो की क्वालिटी ही आपको अपने बिजनेस में आगे तक ले जाएगी
  • ग्राहक की भावनाओं की कद्र करें

क्यो की यह सभी करने से आपके बिजनेस की आधी मार्केटिंग ऐसे ही हो जाती है उसके बाद आते हैं बिजनेस की मार्केटिंग केसे करें।

अपने फास्ट फूड रेस्टोरेंट का एक सुंदर विजिटिंग कार्ड बनवाए जिसमें ऑर्डर के लिए एक या दो मोबाइल नंबर लिखे हो। उन विजिटिंग कार्ड को आप अपने एरिया के लोगो या स्टूडेंट्स में बाट दीजिए। या फिर जो भी आपके शॉप पर आए उसे विजिटिंग कार्ड दीजिए और बोलिए की जरूरत हो तो ऑर्डर कीजिए फ्री डिलीवरी है। 

सोशल मीडिया का इस्तेमाल जरूर करें क्यो की आज के समय में ज्यादातर लोग ज्यादातर लोग ऑनलाइन एक्टिव रहते हैं।स्थानीय ब्लॉगर से संपर्क करें या फिर खुद अपनी वेबसाइट तयार करें बिजनेस का लोकेशन गूगल पर जरूर डाले . अपने स्थानीय लोकल न्यूज पेपर पर अपनी रेस्टोरेंट का विज्ञापन कीजिए.

इसके अलावा भी आप कहीं तरह से मार्केटिंग कर सकते हैं जैसे- इंटरनेट मार्केटिंग, viral marketing, etc. Digital marketing  केसे करें के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

Conclusion

उम्मीद करते हैं दोस्तो की आपको How to start fast food business in India के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको जानकारी अच्छी लगी हो तो लाईक और शेयर करें।अगर आपका कोई सवाल है तो कमेंट जरूर करें धन्यवाद